6 आतंकियों को मार गिराने वाला यह शहीद कभी था खुखार आतंकी, अब अशोक चक्र से हुआ सम्मानित

0
51
soldier-nazir-wani-get-highest-gallentary-award

कभी बुराई के रास्ते पर चलने वाले इस जवान ने पिछले साल कुछ आतंकियों को ढेर करने के बाद खुद शहीद हो गए. साल 2018 में कश्मीर के शोपियों में 6 आतंकवादी को मार गिराया था और जिसने इस कारनामे को अंजाम दिया उन शहीद का नाम लांस नायक नजीर वाणी था और इस मुठभेड़ में उनका भी निधन हुआ. मगर अब उन्हें मरणोपरांत वीरता का सबसे बड़ा सम्मान दिया जाएगा.



शहीद को मिलेगा सबसे बड़ा सम्मान 

शहीद लांस नायक नजीर वाणी को देश के सबसे बड़े वीरता सम्मान यानी अशोक चक्र के लिए चुना गया है और सेना में शामिल होने से पहले वाणी खुद आतंकी संगठन में शामिल थे.लांस नायक नजीर वाणी सेना की 34 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात किए गए थे. पिछले साल शोपियां में सेना के ऑपरेशन में लांस नायक ने 6 आतंकियों को मार दिया था. इसी ऑपरेशन को अंजाम देने के दौरान वो भी शहीद हो गए थे. आतंकियों के खिलाफ शहीद लांस नायक की बहादुरी को देखते हुए उन्हें बार सेना मेजल भी मिला है.



इतने जवानों को दिया जाएगा सम्मान

कश्मीर घाटी के कुलगाम जिले के चेकी अश्मुजी गांव में रहने वाले नजीर के परिवार में उनकी पत्नी और दो बच्चे रहते हैं. हर साल भारत सरकार ने सैनिकों को उनकी वीरता के लिए शौर्य चक्र, कीर्ति चक्र और अशोक चक्र से सम्मानिक करती है. इन सभी सम्मानों में अशोक चक्र सबसे बड़ा सम्मान माना जाता है. इस साल भी कीर्ति चक्र के लिए चार जवानों को कीर्ति चक्र के लिए और 12 जवानों को शौर्य चक्र के लिए चुना गया है. मगर अशोक चक्र के लिए नायक नजीर को चुना गया है.

कमेंट करेंः

Please enter your comment!
Please enter your name here